यदि, मन को समाप्त करना है; यदि मोक्ष पाना है; तो पहले दृश्य से मुक्त हो जाओ; क्योंकि, दृश्य ही, दृष्टा  के जीने के लिए हमें लकड़ी देता रहता है। अधिक खतरे की बात तो यह है कि दृष्टा अपने को न देखें, तो दृश्य ही दृश्य भाषता रहता है। यद्यपि, लकड़ियां सुलगती हैं – कुछ देर अधिक धुआं उठता है – विचार और द्वंद मचता है; लेकिन, यदि नई लकड़ियां मिल जाती हैं, तो लपटे उठती हैं। अब दृष्टा और दृश्य के बीच में एक प्रकार का संघर्ष पैदा होता है। इसका फैसला नहीं कर सकते। ये तो तब हो, जब लकड़ियों को कुछ दूर करें। तब हमें लगे कि हम कुछ हैं और ये कुछ हैं।
       यदि इस प्रकार की आग, दस – बीस  जगह जल रही है और उनकी अपनी – अपनी लकड़ियां और अपनी-अपनी आग है, तो वे  सब अपने को कहती होंगी कि वे अग्नि हैं। ये उनकी लकड़ियां हैं। इनको  वे जलाएंगी। यदि थोड़ी देर के लिए उन्हें लकड़ियां न दी जाएं, तो कितने “मैं” रह जाएंगे? “मैं” अग्नि हूं, अग्नि हूं। हर एक का यह दावा था कि अग्नि “मैं” हूं। कितनी अग्नि रह जाएंगी? सारी अग्नियां शांत हो जाएंगी। शायद कई रह जाएंगी। जिनको आज तक देखा नहीं है।
        
      जिस अग्नि को आज तक नहीं देखा है, वह अव्यक्त आग रह जाएगी। जो दृश्य नहीं है, जो दिखाई नहीं देती। जिससे वह अव्यक्त भी होती है इसीलिए कहा है कि —
      “अव्यक्तातपुरुष: पर:”
      जहां अव्यक्त भी नहीं रहता। वह अव्यक्त के भी परे है। जो शुद्ध चैतन्य है; परमात्मा है; वही तमाम रूपों में, जितने भी  “मैं”  हैं, उनमें प्रकट हुआ है ।
मैं से छुट्टी हो जाना ही मुक्ति है

जिस प्रकार मिट्टी से लिप्त होकर मलिन हुआ, जो तेजोमय प्रकाश युक्त रत्न है, वह भलीभांति धुल जाने पर चमकने लगता है; उसी प्रकार इस जीवात्मा का वास्तविक स्वरूप अत्यंत स्वच्छ होने पर भी अनन्त जन्मों में किये हुए कर्मों के संस्कारों से मलिन हो जाने के कारण प्रत्यक्ष प्रकट नहीं होता; परन्तु जब मनुष्य ध्यान योग के साधन द्वारा समस्त मलों को धोकर आत्मा के यथार्थ स्वरूप को भलीभांति प्रत्यक्ष कर लेता है, तब वह अकेला (अर्थात उसका जो जड़ पदार्थों के साथ संयोग हो रहा था, उसका नाश होकर) कैवल्य अवस्था को प्राप्त हो जाता है तथा उसके सब प्रकार के दुःखों का अन्त होकर वह सर्वथा कृतकृत्य हो जाता है। उसका मनुष्य जन्म सार्थक हो जाता है। फिर जब वह योगी इस स्थिति में दीपक के सदृश निर्मल प्रकाशमय आत्मतत्व के द्वारा ब्रह्म तत्व को भलीभांति प्रत्यक्ष देख लेता है, तब वह उस अजन्मा, निश्छल तथा समस्त तत्वों से असंग—सर्वथा विशुद्ध परम देव परमात्मा को तत्व से जानकर सब बन्धनों से सदा के लिए छूट जाता है।

(Visited 10 times, 1 visits today)
Share this post

4,610 Comments

    1. BacCextbq August 28, 2022 at 12:03 pm

      therapie vice youtube therapies medicaments schizophrenie , therapie act matrice pharmacie de beaulieu toulon . pharmacie europe argenteuil pharmacie en ligne vaccin grippe pharmacie en ligne livraison internationale pharmacie carrefour beaulieu nantes .
      pharmacie bourges test covid pharmacie lafayette avignon pharmacie de garde marseille tel , therapie de couple bruxelles pharmacie elsie aix en provence , pharmacie de garde aujourd’hui villeneuve sur lot pharmacie de garde martinique pharmacie de garde roubaix Acheter Nolvadex en pharmacie France, Tamoxifen pharmacie France Tamoxifen sans ordonnance prix Tamoxifen achat en ligne France Tamoxifen prix sans ordonnance. pharmacie des prГЄcheurs – totum pharmaciens aix-en-provence therapie roberval

      Reply
    1. Anyclert September 1, 2022 at 10:13 am

      pharmacie lafayette toulouse college des therapies alternatives sainte-catherine-de-la-jacques-cartier qc pharmacie lafayette dury , therapie de couple dijon avis pharmacie en ligne 24 avis , pharmacie nuit brest pharmacie test covid autour de moi pharmacie auchan beziers pharmacie lafayette cournon therapie lumiere rouge pharmacie argenteuil utrillo .
      pharmacie de garde aujourd’hui montbeliard pharmacie ouverte juan les pins medicaments xyzall , act therapy courses pharmacie en ligne nord . pharmacie bailly societe.com therapies have had considerable success in treating bedwetting pharmacie avenue des infirmeries aix en provence pharmacie ouverte nice . medicaments oxyures pharmacie berlugane beaulieu therapie comportementale et cognitive roanne , pharmacie auchan obernai pharmacie universite le mans , pharmacie leclerc dammarie les lys therapies psychocorporelles pharmacie de garde aujourd’hui carcassonne Furosemide achat en ligne Suisse, Vente Lasix bon marchГ© Vente Lasix bon marchГ©, Furosemide achat en ligne Suisse Lasix prix Suisse Lasix livraison express Suisse. act therapy youtube therapie cognitivo-comportementale (tcc) pdf pharmacie rue de brest quimper therapie comportementale et cognitive montpellier pharmacie auchan st loup , college des therapies alternatives sainte-catherine-de-la-jacques-cartier qc traitement entorse cheville . pharmacie a angers pharmacie carrefour market annecy le vieux medicaments tension

      Reply
    1. Ucyncgoryde August 9, 2022 at 3:12 pm

      [url=https://stromectoll.live/]stromectol order[/url]

      Reply
    2. Icyncgoryff August 11, 2022 at 2:15 am

      [url=https://molnupiravironline.top/]molnupiravir online order[/url]

      Reply
    1. BacCextik August 28, 2022 at 5:11 pm

      pharmacie amiens leclerc pharmacie angers jean vilar pharmacie leclerc colmar , quel pharmacie de garde aujourd’hui pharmacie en ligne nimes . pharmacie ouverte tourcoing generique de medicament pharmacie ouverte dimanche autour de moi pharmacie des 2 ormes aix en provence .
      pharmacie orthopedie avignon pharmacie amiens horaires pharmacie becker monteux apothical fr , act therapy overview therapies with dementia , pharmacie sikorski avignon pharmacie ouverte le samedi autour de moi medicaments vitamine d Equivalent Risperdal sans ordonnance, Risperidone achat en ligne Canada Vente Risperidone sans ordonnance Risperidone sans ordonnance prix. pharmacie annecy gare angers officine pharmacie

      Reply